Home नागपूर वेकोलि ने किया अब तक का सर्वाधिक कोयला उत्पादन, डिस्पैच एवं ओबीआर;

वेकोलि ने किया अब तक का सर्वाधिक कोयला उत्पादन, डिस्पैच एवं ओबीआर;

39 views
0

विदर्भ वतन न्यूज पोर्टेल नागपूर ;

वेकोलि ने किया अब तक का सर्वाधिक कोयला उत्पादन, डिस्पैच एवं ओबीआर

 सीएमडी श्री मनोज कुमार ने टीम वेकोलि को कार्यक्रम ‘रू-ब-रू’ के माध्यम से किया संबोधित – उपलब्धियों के लिए दी बधाई

वेकोलि ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में कोयला उत्पादन, डिस्पैच एवं ओबीआर में एतिहासिक वृद्धि दर्ज की है। इस वित्तीय वर्ष के दौरान वेकोलि ने 57.71 मिलियन टन कोयला उत्पादन किया है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 14.7% अधिक है। इसी प्रकार वेकोलि का डिस्पैच 64.17 मिलियन टन रहा, जो गत वर्ष की तुलना में 29.20% अधिक है। ओवर बर्डन निष्कासन में भी वेकोलि ने गत वर्ष की तुलना में 7.3% की उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की है। इस वित्तीय वर्ष में ओवर बर्डन निष्कासन 272.38 मिलियन क्यूबिक मीटर रहा। यह वेकोलि की स्थापना से अब तक, किसी भी एक वित्तीय वर्ष में, किया हुआ सर्वाधिक कोयला उत्पादन, डिस्पैच एवं ओबी निष्कासन है।

वित्तीय वर्ष 2022-23 के प्रथम दिवस 01.04.22 को वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (वेकोलि) के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक श्री मनोज कुमार ने कार्यक्रम ‘रू-ब-रू’ के माध्यम से टीम वेकोलि के साथ सीधा संवाद किया। उन्होंने कहा कि वेकोलि ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में, कम्पनी के स्थापना-काल से अब तक का सर्वाधिक कोयला-उत्पादन, डिस्पैच एवं ओबी निष्कासन किया है। उन्होंने इन उपलब्धियों के लिए टीम वेकोलि को बधाई दी।

उन्होंने आगे कहा की वेकोलि में यह ऐतिहासिक वृद्धि अनेक सकारात्मक पहल का प्रतिफल है। उन्होंने बताया की वर्ष 2021-22 मैं वेकोलि ने 3.075 मिलियन टन की पर्यावरणीय स्वीकृति हासिल कर अपनी क्षमता में विस्तार किया है। इसी दौरान 223 हेक्टेयर का फॉरेस्ट क्लीयरेंस हासिल किया गया, जिससे वर्तमान खनन प्रक्रिया को बल मिला है। साथ ही इस वित्तीय वर्ष में 1210 हेक्टर भूमि का अधिग्रहण किया गया, जिससे भविष्य में निर्बाध्य रुप से कोयला उत्पादन संभव होगा।

उन्होंने खनन कार्य में सुरक्षा के महत्व को उजागर करते हुए डब्ल्यूसीएल के 8 खदानों को 9 राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार मिलने का उल्लेख किया। उन्होंने आगे कहा कि कोयला खनन प्रक्रिया को अधिक कारगर एवं सुरक्षित बनाने हेतु वेकोलि द्वारा कंटीन्यूअस माइनर एवं सरफेस माइनर जैसी नई तकनीक को वृहद् तौर पर अपनाया जा रहा है।

 

इस वर्ष कम्पनी के उत्पादन में वाणी क्षेत्र का सबसे ज्यादा 15.76 मिलियन टन कोयले का योगदान रहा। इसी प्रकार उमरेड क्षेत्र का 10.35 मिलियन टन और नागपुर क्षेत्र का 8.67 मिलियन टन कोयला-उत्पादन का उल्लेखनीय योगदान रहा।

वित्तीय वर्ष 2021-22 के ऐतिहासिक वृद्धि से उत्साहित टीम वेकोलि ने नए वित्तीय वर्ष के लक्ष्य भी निर्धारित कर लिए है। वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए कोयला उत्पादन का लक्ष्य 62 मिलियन टन, कोयला डिस्पैच का लक्ष्य 62 मिलियन टन तथा ओवर बर्डन निष्कासन का लक्ष्य 330 मिलियन क्यूबिक मीटर तय किया गया है। नए लक्ष्य को हासिल करने का विश्वास टीम वेकोलि में स्पष्ट दिखाई पड़ता है।